Automation meaning : 5 minute full knowledge career & jobs

Automation क्या है ?

इसे हिंदी में स्वचालन कहते हैं अर्थात नगण्य मानवीय हस्तक्षेप मतलब किसी मशीन को ऐसा डेवलप किया जाना है जिसमें किसी काम को करने के लिए कम से कम लोगों की आवश्यकता पड़े है सभी कामों को मशीन की मदद से किया जाए जिससे मानव श्रम को कम किया जा सके। मशीनों को इस प्रकार से व्यवस्थित किया जाए जो कुछ कमांड देने के बाद वह खुद स्वचालित हो जाए और दिए गए टारगेट को पूरा करे, इसी को ऑटोमेशन कहेंगे।

ऐसे समझते हैं यह एक ऐसी तकनीक है जिसमें हम कंप्यूटर, सॉफ्टवेयर, इलेक्ट्रॉनिक आइटम की मदद से कार्यों का संचालन करते हैं । यह मैकैनिकल इंजिनिअरींग का भाग होता है,जिसके जरिए मशीनों को fully automatic बनाया जाता है। जिससे मानव हसतशेप को कम किया जा सके ।

जैसा कि नाम से ही समझ में आ रहा है स्वचालन अर्थात खुद से चलने वाला। अतः इसकी इसी खूबी के कारण इसका इस्तमाल बड़ी बड़ी कंपनियों तथा ऑफिस में किया जा रहा है जिससे कामों में सरलता आए । एक ही काम को बार बार करने की नीरस प्रक्रिया को मनोरंजक बनाया जाए । यह ऑटोमेशन के मुख्य उदेशयों मे एक है ।

चुकी अब हम एक डिजिटल युग में रहते हैं जहां हम हर काम को कम मेहनत तथा कम समय में करना चाहते हैं इसी मानवीय परिवर्तन को वैज्ञानिकों ने समझकर मशीनी व्यवस्था पर काम करना शुरू कर दिया है जिसके फलस्वरूप ऑटोमेशन शब्द का जन्म हुआ। अर्थात मनुष्य के बहुत से काम जैसे घर के काम या फिर ऑफिस के काम या फिर उत्पादन को मशीनों के द्वारा करवाना ही ऑटोमेशन है ।

इसके फलस्वरूप उत्पादों और उद्यमों को अधिकतम तथा गुणवंता बढ़े, कार्यों की गति में बढ़ोतरी आए तथा मानव के सुखों में इजाफा हो पाए यही ऑटोमेशन का मेन उद्देश्य है । इसे मैन्युफैक्चरिंग, ट्रांसपोर्ट, ऑपरेशन, इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी तथा अन्य कई क्षेत्रों में गुणवन्ता पूर्ण तथा त्रुटि रहित कार्यो को किया एस्टमाल किया जाता है ।

manufacturing की दिशा में तो ऑटोमेशन वरदान साबित हो रहा है। ऑटोमेशन के कारण समय और लागत की भी बचत होती है। अगर उदाहरण की बात की जाए तो चैट बोट के जरिए वित्तीय काम जैसे मार्केटिंग, ग्राहकों की सेवा आदि को बहुत ही सरलता से कर पाते हैं । रोबोट प्रोसेस ऑटोमेशन एक ऑटोमेशन का रूप है। जिसके जरिये ऑफिस का काम किया जाता है। 

-Types of Automation-

Fixed Automation – यह एक जटिल ऑटोमेशन है। इसे हार्ड ऑटोमेशन के नाम से भी जाना जाता है। इस में होने वाले ऑपरेशन को फिक्स कर दिया जाता है । जो अपरिवर्तनीय होते है । इसे बहुत दिनों तक काम में लाया जाता है। इसमें चेंज ना के बराबर होते हैं जो पैटर्न फिक्स कर तो फिक्स ।

आप इसे बदल नहीं सकते हैं अर्थात नया चीज नहीं बना सकते हैं इसका इस्तेमाल mass  प्रोडक्शन में होता है इसलिए प्रोडक्शन रेट हाई होती है। उदाहरण-

  • Fixed automation include mechanized
  • assembly machining transfer lines

Programmable Automation- इस ऑटोमेशन में प्रोग्रामिंग करके इसे किया जाता है जिसके कारण नए नए उत्पाद बना सकते हैं। Fixed ऑटोमेशन में जहां एक ही प्रकार के उत्पाद बनते थे । वही  प्रोग्रामेबल ऑटोमेशन में विभिन प्रकार के चीजों को बना सकते है।

इसमें हम डिजाइन में चेंज कर सकते हैं। यह एक सेट ऑफ इंस्ट्रक्शन होता है जिसके द्वारा विभिन्न कार्यों को किया जाता है। नए प्रोग्राम डालकर नया कार्य कर सकते हैं । यह batch प्रोडक्शन के लिए सही होता है इसके production रेट medium होती है। उदाहरण

  • Nc machine tool
  • Industrial robots

Flexible Automation-यह ऑटोमेशन वैरायटी ऑफ प्रोडक्शन कर सकते हैं कस्टमर के डिमांड के अनुसार इसके फीचर में बदलाव किया जा सकता है, बिना समय गवाएं अर्थात इसमें पैटर्न का डिजाइन बदल सकते हैं। इसकी प्रोडक्शन क्षमता low रहती है इसकी शुरू में कॉस्टिंग अधिक होती है इसके द्वारा लगातार उत्पादन नहीं किया जा सकता है। चुकी कस्टमर की पसंद लगातार बढ़ती रहती है इसके लिए फ्लैक्सिबल ऑटोमेशन बहुत लाभकारी सिद्ध होता है।

  ऑटोमेशन के फायदे-

  • लागत समय की बचत
  • गुणवत्तापूर्ण काम
  • त्रुटि रहित काम
  • तेज गति से काम
  • उत्पादन में बढ़ोतरी
  • जटिल से जटिल प्रक्रिया सरल हो जाती है
  • दुर्घटनाओं की कमी

 ऑटोमेशन के नुकसान

  • मशीनों पर निर्भरता में बढ़ोतरी 
  • लागत अत्यधिक
  • प्रदूषण में बढ़ोतरी
  • बेरोजगारी में इजाफा
  • मनुष्य की कौशलता में कमी आना। 

Uses of Automation –

  • Manufacturing industry
  • automobile industry
  • electronic industries
  • military defense
  • information technology 

-Jobs and qualification in Automation –

ऑटोमेशन के क्षेत्र में करियर की असीम संभावनाएं हैं इसका क्षेत्र बहुत ही व्यापक है इसमें रोजगार के साधन असीमित है । जिसमें देश से लेकर भी विदेशों तक बहुत ही संभावनाएं हैं । ऑटोमेशन के दिशा में करियर बनाने वाले टेक्नीशियन, इंजीनियर, प्रबंधक, बिक्री, सेवा फील्ड, तकनीक, कमिश्निंग, विशेषज्ञ आदि क्षेत्रों में जाकर अपना उज्जवल भविष्य संवार सकते हैं।

इसे भी जाने –Robotic process Automation

योग्यता इसके लिए आपको स्नातक की डिग्री का होना आवश्यक है। इसके लिए आप इलेक्ट्रॉनिकल, इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस या मैकेनिकल इंजीनियरिंग का अध्ययन कर सकते हैं। किसी भी एक पद का चयन पाकर आप एक अच्छी पैकेज भी पा सकते हैं।

Top Automation and Robotics colleges in India –

  • MIT Manipal-Manipal Institute of technology
  • PSG Tech coimbatore-PSG college of technology
  • LPU jalandhar -Lovely professional university
  • School of engineering and technology jain university Bangalore
  • IIT Kanpur -Indian institute of technology
  • Rajalakshmi engineering college of chennai

Top 5 online Learning platform for automation –

  • Cp -SAT -Certified profession selenium
  • Automation  selenium Automation testing for Beginners 
  • Learn Test automation with Boozang 
  • Getting started with test Automation using selenium 
  • Appium -selenium for  mobile Automation testing 

conclusion –

आशा है दोस्तों ऑटोमेशन का यह भाग आपको पसंद आया होगा। जिसमे मैंने बहुत कम शब्दों में सरल भाषा में ऑटोमेशन समझाने की कोशिस की है,करियर के रूप मे अपनाने के लिए आवश्यक योग्ता तथा विभिन पदों की जानकारी इस दिशा में आगे बढ़ने वालों का उचित मार्ग दर्शन करगी अगर सुझाव तथा सवाल हो तो मुझे लिखे धन्यवाद !

#Automation #Automation क्या है ? # Technology #Automation career & jobs

Leave a Comment