Edge computing क्या है?5 Benefits of Edge computing

Edge computing Basic Details

स्वागत है दोस्तों आज के इस Edge computing के इस भाग में, दोस्तों टेक्नोलॉजी नित दिन नई नई ऊंचाइयां छू रहा है। वह दिनों दिन अपने आप को विकसित कर रहा है जीवन को सुगम बनाने के लिए, इसी में एक नया नाम जो बहुत तेजी से उभर कर सामने आ रहा है वह Edge computing (एज कंप्यूटिंग) का है। दोस्तों आज के इस भाग में हम एज कंप्यूटिंग क्या है ? यह हमें कैसे प्रभावित करता है तथा यह हमारे भविष्य में के लिए कैसे एक वरदान साबित हो सकता है इन सभी बातों की चर्चा इस भाग में हम करेंगे। 

एज कंप्यूटिंग का पूरा नाम Enhanced data Rates for gsm architecture है। जैसा कि नाम से ही समझ में आ रहा है कि यह डाटा को Enhance करने के जैसा कुछ होगा। यह क्लाउड कंप्यूटिंग में क्लाउड सर्वर के Edge पर यह डाटा को प्रोसेस करने का काम करता है। जैसा कि हम जानते हैंकि cloud computing एक ऐसी टेक्नोलॉजी है।

जिसमें हम डाटा को स्टोर, डाटा प्रोसेसिंग तथा डाटा मैनेजमेंट का काम करते हैं। क्लाउड कंप्यूटिंग के द्वारा हम डाटा को किसी भी जगह में किसी भी समय में डाटा का एक्सेस ले पाते हैं क्योंकि डाटा क्लाउड सर्वर में स्टोर रहता है। चुकी अब डाटा को एक्सेस करना पहले की तुलना में बहुत आसान हो गया है। इसलिए दिन पर दिन इसकी यूजर की संख्या बढ़ती जा रही है। परिणाम स्वरूप इसकी स्पीड की समस्या उत्पन्न हो रही है।

अतः Edge computing एज कंप्यूटिंग यह एक ऐसी युक्ति है जो इस समस्या को हल करने के लिए अनुमति देती है। सर्वप्रथम इसका निर्माण 2001 में ही शुरू हो गया था। अगर सरल शब्दों में कहें तो यह डाटा नेटवर्किंग का नया सिस्टम है जो कुछ ऑपरेशन को लोकल सर्वर से कनेक्ट करता है अर्थात अस्थाई नेटवर्क में डाटा प्रोसेसिंग का काम करता है जिससे डाटा की स्पीड बनी रहती है। यह एक न्यू जनरेशन टेक्नोलॉजी है। एक ऐसा सॉफ्टवेयर या कोड है जो क्लाउड के किनारे (edge)पर काम करता है। यह डिवाइस और क्लाउड सर्विस के बीच का component होता है

Feature of edge computing

  • गति- इसके जरिए डाटा की प्रोसेसिंग स्पीड को बढ़ाया जा सकता है। एक बहुत ही अच्छी लेटेंसी के साथ।
  • सुरक्षित- यह हैकरों से भी बचाता है क्योंकि यह एंड टू एंड एनिक्रप्शन के साथ डाटा को एनक्रिप्टेड होने से भी सुरक्षित रखता है।
  • लागत –इसकी लागत बहुत कम होती है क्योंकि यह इंटरमीडिएट नोड्स पर क्लाउड सर्विस के edge पर सर्विस देता है इसलिए क्लाउड सर्वर की अपेक्षा इसकी लागत कम होती है। इसलिए यह कंपनियों के लिए पहली पसंद बन चुकी है चुकी, डाटा को लोकल सर्वर में store करता है और लोकेशन के आधार पर प्रोसेस भी करती है जिससे इसकी लागत कम हो जाती है।
  • विश्वसनीयता –इंटरनेट की स्पीड कम होने पर भी यह बखूबी काम करने में सक्षम होता है डाटा को अच्छे से प्रोसेस तथा इन्हें Enhance करने में असरदार  है 

Use of Edge computing-

टेक्नोलॉजी का विकास दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है AI (आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस)  और Machine Learning (मशीन लर्निंग) रोजमर्रा की जिंदगी में शामिल होते जा रहे हैं जिससे IOT (internet of things- यह एक ऐसी नेटवर्किंग है, जो आपके physical device जैसे आपके घर के इलेक्ट्रॉनिक समान या फिर गैजेट आदि को एक दूसरे से लिंक कर आपके अनुसार सर्विस देने का काम करता है। ) की मात्रा बढ़ती जा रही है इसलिए एज कंप्यूटिंग के द्वारा डाटा को संभालना,संसाधित करना और वितरित करने इसके लिए यह बहुत आवश्यक हो गया है।

Real time computing  के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जा रहा है यह bandwidth को भी कम करता है। यह केंद्रीकृत (centralized) होने वाला डाटा को कम करता है टेक्नोलॉजी को आगे बढ़ाने में इसका इस्तेमाल बखूबी किया जा रहा है। उपकरणों के नजदीक में processing  तथा स्टोरेज के लिए भी अत्यधिक इस्तेमाल में लाया जा रहा है। यह correct -access -control,VPN  ट्यूनिंग के लिए भी उपयोगी हो रहा है।

Principle of एज कंप्यूटिंग –

इसका उद्देश्य प्रारंभिक लंबी दूरी पर IOT उपकरणों के लिए बैंडविथ के लागत को कम करना तथा वास्तविक समय के अनुप्रयोग बढ़ाने से Edge पर प्रसंस्करण की आवश्यकता को पूरा करना इसका प्रथम उद्देश्य है। यह Low Latency application का भी हवाला देती है। एज कंप्यूटिंग सिक्योरिटी रिक्वायरमेंट को भी पूरा करती है इसके डिवाइस में कई ऐसे चीजों को जोड़ा जाता है जिससे सुरक्षा जरूरतों को पूरा किया जा सके। यह IOT सेंसर, सिक्योरिटी कैमरा,Nodes आदि जिसके कारण यह सुरक्षा की सारी जरूरतों को पूरा करता है।

एज कंप्यूटिंग companies-

5G टेक्नोलॉजी (वायरलेस टेक्नोलॉजी )में यह तेज गति के लिए अनुमति देता है। इसके अलावा मशीन लर्निंग companies के लिए भी यह बहुत ही लाभकारी तथा उपयोगी सिद्ध हो रहा है। Robotics के क्षेत्र में भी इसका इस्तेमाल बड़े पैमाने पर किया जा रहा है। Artificial Learning में भी यह बढ़ चढ़कर हिस्सा ले रहा है। self driving car तथा एनालिटिक्स आदि में यह कंपनियों को सहयोग दे रहा है।

कंपनी स्थानीय रूप से इसका इस्तेमाल कर फायदा उठा रही है virtual reality (वर्चुअल रियलिटी )में भी यह अहम भूमिका में शामिल हो रहा है अर्थात यू माना जाए कि टेक्नोलॉजी का यह एक अहम हिस्सा बनता जा रहा है जिसका भविष्य बहुत ही बेहतर होने वाला है तथा यह युवाओं के लिए रोजगार का भी एक सुनहरे भविष्य के लिए कई रहे  खोल रहा है। कुछ ऐसी प्लेटफार्म है जो एज कंप्यूटिंग को आगे बढ़ा रहे है जैसे -Devops,edge Gravity,आदि

Edge computing in 5G-

यह 5G टेक्नोलॉजी के लिए बहुत ही जरूरी है यह 5G से लेश Application,Mobile,Laptop,cellular मोबाइल के लिए ड्राइवर का काम करता है। processing पावर इलेक्ट्रिसिटी network connectivity के लिए यह अहम भूमिका में काम आ रहा है। प्रबंधन को भी यह मजबूती प्रदान करेगी Data distribution को सही से करेगी तथा डाटा को संसाधित करने का काम इसे बखूबी आता है।

इन्हे भी पढ़े – 5G Technology

Artificial intelligence

एज कंप्यूटिंग का फ्यूचर बहुत ही ब्राइट होने वाला है भविष्य में यह क्लाउड कंप्यूटर की जगह लेने के लिए दिनों दिन विकसित हो रहा है।मोबाइल कंप्यूटिंग में भी यह अहम भूमिका में होगी क्योंकि यह extension तथा Additional types की विशेषताओं से लैस है।

क्योंकि यह cost-effective है इसलिए इसे अपनाना कंपनियों के लिए भी बहुत फायदेमंद साबित हो रहा है। जिससे कंपनियां इसे प्रथम प्राथमिकता दे रही है या एक शक्तिशाली अंतरकार्यकारी डिवाइस है इसलिए इसका operating system आसान होता है। 

Edge computing Vs cloud computing –

Edge computing और cloud computing में अंतर की बात करे तो क्लाउड कंप्यूटिंग का अपना एक मुख्य सर्वर होता है। वही Edge computing डाटा का स्टोर क्लाउड के सर्वर के किनारे पर करता है। cloud computing में data को पहुंचाने में जयादा समय की आवश्यकता होती है वही एज कंप्यूटिंग इसे कम समय में करता है। जिससे डाटा प्रोसेसिंग में अंतर पाया जाता है।

Potential job in Edge computing

  • Edge computing specialest
  • software developer
  • Application Developer
  • computer Network Architect
  • computer system Analyst

आशा है दोस्तों एज कंप्यूटिंग के बारे में आपको बेसिक जानकारी मिली होगी। अगर इससे संबंधित आपके पास कुछ सवाल या कोई सुझाव हो तो मुझे लिखे आपके comments का इंतजार रहेगा।

Leave a Comment