प्रतिवेदन लेखन कैसे लिखे ? उदाहरण के साथ सीखे Report writing 

प्रतिवेदन का इस्तमाल कहा किया जाता है ?

प्रतिवेदन लेखन-प्रतिवेदन शब्द का प्रयोग अंग्रेजी के रिपोर्ट अथवा रिपोर्टिंग के पर्याय के रूप में किया जाता है। रिकॉर्ड रखने किसी के समक्ष संक्षिप्त रूप से प्रस्तुत करने, कार्यकलापों का लेखा-जोखा, समितियों द्वारा की गई नीतियों, बर्खास्तगी, निलंबन आदि को प्रस्तुत करने हेतु  प्रतिवेदन को तैयार किया जाता है। 

 प्रतिवेदन का अर्थ क्या है? IN HINDI

 सरकारी स्तंभों में एजेंसियां होती अर्धवार्षिक स्तर पर या फिर मासिक स्तर पर अनेक कार्य करती हैं। सरकारी कार्यालय संस्थान संगठन कंपनियां अपने कार्यों का लेखा-जोखा प्रस्तुत करती है। इनकी नियमित बैठकें होती हैं जिस में किए गए कार्यों का विवरण देना होता है। 

सरकार में गंभीर मामलों और घटनाओं के बारे में सही जानकारी प्रस्तुत करने को बैठकों में लिए गए निर्णयों को  सरकार द्वारा जारी श्वेत पत्र प्रशासनिक आदेश विवरण आदि देने के लिए प्रतिवेदन को तैयार कर प्रस्तुत किया जाता है। 

प्रतिवेदन लेखन संबंधित उदाहरण देखें-

 20 जुलाई को मुंबई रेलवे स्टेशन पर रेल दुर्घटना हुई जिसमे  कई लोगों की जान गई और बहुत लोगों को काफी  गंभीर चोट आई तथा सामान भी खो गए। आप एक संवाददाता के रूप में रिपोर्ट तैयार कीजिए।

 उपयुक्त सामग्री के आधार पर प्रतिवेदन लेखन या रिपोर्ट इस प्रकार लिखी जाती है-

 1- दुर्घटना संदर्भ मे प्रतिवेदन लेखन-

20 जुलाई रात 8.00  बजे मुंबई से आने वाली शताब्दी एक्सप्रेस और चेन्नई को जाने वाली तमिलनाडु एक्सप्रेस में टक्कर होने से दुर्घटना हो गई। यह दुर्घटना प्लेटफार्म से बाहर निकलते ही हुई। गाड़ी जब ट्रॅक  बदल ही रही थी तभी दूसरी गाड़ी से भिड़ंत हो गई। गलत सिग्नल मिलने के कारण  ऐसा हुआ। शताब्दी एक्सप्रेस के दो डिब्बे बुरी तरह दुर्घटनाग्रस्त हो गए और पटरी से उतर गए ।  जबकि तमिलनाडु एक्सप्रेस का इंजन ही पटरी से उतर गया।

इसे भी पढे –

दुर्घटना स्थल पर बहुत अफरा तफरी  मच गया। यात्रियों का सामान इधर-उधर बिखर गया। कुछ लोग मलबे के नीचे दब गए। 100 से अधिक  लोगों के मारे जाने की आशंका है। अब तक कई शव निकाले जा चुके हैं। घायलों को राम मनोहर लोहिया और जयप्रकाश नारायण अस्पतालों में भर्ती कराया गया है। प्राथमिक चिकित्सा के लिए रेलवे अस्पताल से डॉक्टर पहुंच गए थे। रात होने के बावजूद कार्यवाही बहुत ही शीघ्रता से और सुचारू रूप से हुई।  दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए रेलवे बोर्ड ने एक कमेटी का गठन किया है।

2- विद्यालयी संदर्भों  में प्रतिवेदन लेखन –

विधायालय सालभर  गतिविधियो का केंद्र रहता है । खेलों उत्सव ,वार्षिक महोत्सव सदनों उत्सव, समितियों के कार्यक्रम, कार्निवाल, विभागों की बैठक आदि होती रहती है। साथ ही शरारती छात्रों द्वारा की गई हरकतें लड़ाई झगड़े, टूटना फूटना, तोड़फोड़ भी हो जाती है इस हेतु अध्यापक जांच समिति की नियुक्ति की जाती है। वह जांच पड़ताल के बाद जो रिपोर्ट देती है वही प्रतिवेदन कहलाता है। 

विद्यालय पत्रिका हेतु तैयार की जाने वाली संक्षिप्त टिप्पणी,आलेखों, निष्कर्षों, निर्णय, आदेशों, संस्तुतियों,आकड़ों को भी इसमें रखा जाता है।

 प्रतिवेदन लेखन का उदाहरण-

 सामग्रियों के आधार पर नेहरू  विद्यालय में आयोजित खेलकूद सप्ताह के उद्घाटन समारोह का प्रतिवेदन लेखन संक्षेप में लिखिए-

 उद्घाटन समारोह15 अप्रैल 2023
स्थाननेहरू विद्यालय नवी मुंबई
मुख्य अतिथिश्री विजय शर्मा
स्वागत भाषणप्राचार्य, डॉक्टर राधा पटेल, नेहरू विद्यालय
 धन्यवाद ज्ञापनश्री पी के शर्मा( अध्यापक)
संचालनसपना त्रिपाठी ( छात्र)
उदाहरण प्रतिवेदन लेखन / Report writing 

 15 अप्रैल:

15  अप्रैल से 25  अप्रैल तक नेहरू  विद्यालय में खेलकूद सप्ताह का आयोजन किया जा रहा है। आज प्रातः 9:00 इस सप्ताह का उद्घाटन किया गया। इस समारोह में मुख्य अतिथि प्रसिद्ध क्रिकेट खिलाड़ी श्री विजय  शर्मा ने दीप जलाकर कार्यक्रम का प्रारंभ किया। इनहोने अपने भाषण में खेलों के महत्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विभिन्न खेलों का प्रशिक्षण व्यवस्थित ढंग से होना चाहिए।

 विद्यालय की प्राचार्य ने अपने स्वागत भाषण में विद्यालय की विभिन्न गतिविधियों का ब्यौरा देते हुए बताया कि विद्यालय में इस पूरे सप्ताह में खेल प्रतियोगिताएं आयोजित की जाएंगी। सभी बच्चे बिना बैग के  विद्यालय आएंगे और खेल का पूरा आनंद उठाएंगे। श्री पी के शर्मा ने धन्यवाद ज्ञापन में समय बताया कि श्री विजय  शर्मा इसी विद्यालय के होनहार विद्यार्थी रहे हैं और कैसे कठिन परिश्रम और अभ्यास के बाद देश का नाम रोशन कर रहे हैं।

 इस कार्यक्रम का संचालन विश्वविद्यालय की छात्रा सपना त्रिपाठी ने बहुत ही व्यवस्थित ढंग से किया है।

Leave a Comment